खेल

इरफान पठान ने बताया विराट कोहली और रोहित शर्मा की कप्तानी में सबसे बड़ा अंतर,

नई दिल्ली. टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज और मौजूदा कमेंटेटर इरफान पठान ने हाल ही में विराट कोहली और रोहित शर्मा की कप्तानी में सबसे बड़ा अंतर बताया है। वैसे तो इन दोनों ही सूरमाओं की अगुवाई में भारत ने लाजवाब प्रदर्शन किया है, मगर इंग्लैंड के खिलाफ पहला टेस्ट हारने के बाद रोहित की कप्तानी पर सवाल उठने लगे हैं। कई एक्सपर्ट्स का मानना है कि रोहित शर्मा हैदराबाद टेस्ट में ज्यादा डिफेंसिव हो गए थे, वहीं कई का कहना है कि अगर विराट कोहली कप्तान होते तो भारतीय टीम ये टेस्ट मैच कभी नहीं हारती। बता दें, हैदराबाद टेस्ट के पहले दो दिन मैच पर पकड़ बनाए रखने के बावजूद भारत 28 रनों से हारा था। टीम इंडिया दूसरी पारी में ओली पोप और टॉम हार्टली का तोड़ नहीं ढूंढ पाई थी।

इरफान पठान ने एशियन लीजेंड्स लीग लॉन्च इवेंट के दौरान कोहली और रोहित के बीच कैप्टेंसी की बहस पर अपना पक्ष रखा है।

पठान ने दोनों कप्तानों की क्वालिटी पर प्रकाश डाला। उन्होंने टेस्ट मैच के पांच दिनों के दौरान विराट कोहली के आक्रामक रवैये के प्रभाव पर जोर देते हुए उनकी सराहनीय कप्तानी की प्रशंसा की है। इसके विपरीत, पठान ने कहा कि रोहित की नेतृत्व शैली एक अलग दृष्टिकोण की विशेषता है। उन्होंने रोहित को अधिक रणनीतिक, खेल में सक्रिय रूप से शामिल रहने वाला और विराट कोहली की तरह आक्रामकता नहीं दिखाने वाला बताया है।

इरफान पठान ने कहा, “विराट ने जिस तरह से टीम का नेतृत्व किया और टीम में जो बदलाव लाए, वह सराहनीय है। उनकी कप्तानी को लोग युगों-युगों तक याद रखेंगे। उन्होंने टेस्ट मैच के पूरे पांच दिनों में आक्रामकता बरकरार रखी। दूसरी ओर, रोहित का नेतृत्व करने का तरीका बिल्कुल अलग है। वह अधिक सामरिक है और खेल में शामिल रहता है। वह विराट जितनी आक्रामकता नहीं दिखाते।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button