छत्तीसगढ़राजनीतीरायपुर

पांच साल बाद फिर राजधानी के विधायक एक्शन मोड में

रायपुर. प्रदेश में पांच साल बाद सत्ता में वापसी करने के बाद राजधानी रायपुर से दाेनाें विधायक राजेश मूणत और बृजमोहन अग्रवाल एक्शन मोड में आ गए। इन्होंने अफसरों की क्लास लेते हुए साफ कह दिया है, शहर में किसी भी तरह से लॉ एंड आर्डर की अवहेलना बर्दाश्त नहीं होगी। विधायकों के सख्त तेवरों के बाद कलेक्टर और एसपी ने बैठक लेकर फरमान जारी कर दिया है कि शहर में किसी भी इलाके में रात के 11 बजे के बाद कोई भी दुकान नहीं खुलेगी।

राजेश मूणत फिर से वापस विधायक बनने के बाद पहले ही दिन से एक्शन मोड में आ गए हैं। कलेक्टर और एसपी को बुलाकर उनसे दो टूक कह दिया है कि शहर में लॉ एंड आर्डर कायम किया जाए। इसी के साथ अफसरों से साफ कहा, ठेले और ठियों को बंद किया जाए। कहीं भी असामाजिक तत्वों का जमावड़ा नहीं होना चाहिए। कलेक्टर और एसपी को रात में खुद गश्त करने के लिए भी कहा है।

बृजमोहन अग्रवाल भी भी एक्शन में आ गए हैं।उनके निर्देश पर देर रात तक खुलने वाली छोटा पारा और बैजनाथ पारा की दुकानें पुलिस द्वारा रात 10:30 बजे ही बंद करा दी गई। बृजमोहन ने साफ कह दिया है कि रायपुर शहर में अब गुंडाराज नहीं कानून का राज चलेगा। गुंडागर्दी करने वाले, नागरिकों को परेशान करने वाले सलाखों के पीछे जाएंगे। कांग्रेस राज में रायपुर के छोटा पारा और बैजनाथ पारा की दुकानें देर रात तक गुलजार रहती थी। बृजमोहन ने कहा, भाजपा की सरकार में लोगों की सुरक्षा का ख्याल रखना हमारा पहला कर्तव्य है। बीते 5 वर्षों में रायपुर शहर सहित संपूर्ण प्रदेश में अपराध बढ़े हैं। इन बढ़े अपराधों को रोककर लोगों के मन में सुरक्षा का भाव पैदा करना बेहद जरूरी है।

शहर के दोनों विधायकों की भारी नाराजगी के बाद कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भुरे ने शहर में कानून व्यवस्था की स्थिति पर अधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक ली। इस बैठक में एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने कानून व्यवस्था संबंधित आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में पुलिस के अधिकारियों सहित नगर निगम रायपुर और बीरगांव के अधिकारी भी मौजूद रहे। कलेक्टर डॉ. भुरे ने रायपुर शहर में यातायात को भी सुव्यवस्थित करने के निर्देश दिए। उन्होंने सड़कों के किनारे लगी गुमठियों और अस्थाई दुकानों, ठेलों को तत्काल हटाने के निर्देश दिए ताकि इनसे लोगों को आने-जाने में होने वाली परेशानी और भीड़ के कारण लगने वाले जाम से निजात मिल सके।

सड़कों और स्कूलों के आस-पास अवैध रूप से संचालित पान ठेलों, अस्थाई दुकानों और गुमठियों को हटाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि असामाजिक तत्वों पर अंकुश लगाए और कानून तोड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई करें। अवैध चखना सेंटर पर कार्रवाई करें। देर रात तक चलने वाले एवं समय सीमा के बाहर चलने वाले क्लब, बार तथा सड़क-हाइवे इत्यादि पर पार्टी और अड्डेबाजी करने वाले असामाजिक तत्वों पर त्वरित एवं कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा, दोनों नगर निगम में अतिक्रमण विरोधी दस्ता बनाया जाए, जो अवैध अतिक्रमण चिन्हित कर हटाने की कार्रवाई करें। उन्होंने कहा, सभी एडीएम पुलिस अधिकारियों के साथ रात में गश्त करें और कानून व्यवस्था भंग करने वाले तत्वों पर कार्रवाई करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button